Saturday, 28 May 2011

तुम से और एक अजनबी के लिए

तुम से 

... चलो हम दोनों
जरा औरों से अलग निकल लें।..

....हाँ, अब ठीक है,
अब हम एकसाथ हैं पूरी निजता में।...

...तुम उस समारोह में
नहीं जा रही हो ना।...ठीक है।

हाँ, अब आओ
और मुझ पर वो मेहरबानी करो
जो तुमने किसी पर नहीं की -
मुझे पूरी कहानी सुनाओ।

मुझसे वो सब कहो
जो तुमने अपने भाई, पति और
डॉक्‍टर से नहीं कहा।

___________________





एक अजनबी के लिए
 

पास से गुजरते
ओ अजनबी
तुम्हें नहीं मालूम मैं कितनी हसरत भरी नजरों से तुम्हें देख रहा हूँ
तुम वही पुरूष या स्त्री हो, जिसकी मुझे तलाश रही है
जो सपनों की तरह मेरे पास आते हो

यकीनन मैंने तुम्हारे साथ,
कभी कहीं एक खुशहाल जिन्दगी जी है।
तुम्हारे बारे में जो मुझे याद आता है,
वो ये है कि -
हमने साथ-साथ कई उड़ाने भरी हैं
हम एक-दूसरे के साथ बहे हैं
हम एक-दूसरे से लगाव में रहे हैं
एक दूसरे से बढ़चढ़कर हिले-मिले हैं
हम साथ ही साथ गये हैं, एक उम्र से दूसरी उम्र तक,
बड़े हुए हैं,
कभी लड़के की तरह कभी लड़की की तरह,
मैंने तुम्हारे साथ खाया है,
मैं तुम्हारे साथ सोया हूं
तुम्हारा जिस्म केवल तुम्हारा ही नहीं रहा है
जैसे कि मेरा जिस्म केवल मेरा ही नहीं है
तुमने मुझे अपनी आंखों, चेहरे और काया से सटने दिया है
और जवाब में तुमने भी मेरी दाड़ी, छाती और हाथों के स्पर्श लिये है
मैं तुमसे बात नहीं कर रहा हैं तो भी
जब भी मैं अकेला बैठता हूं या
रातों को अकेला जागता हूं
मैं तुम्हारे बारे में सोचता हूं
मैं इंतजार में हूं,
लेकिन मुझे कोई शक नहीं है कि
मैं तुमसे फिर मिलूंगा
यह देखने के लिए कि,
मैंने तुम्हें खोया नहीं है।


 

मूल कवि‍ता


To You

by Walt Whitman

LET us twain walk aside from the rest;
Now we are together privately, do you discard ceremony,
Come! vouchsafe to me what has yet been vouchsafed to none—Tell me the whole story,
Tell me what you would not tell your brother, wife, husband, or physician. 

-------------------------------------------------------------------------------------------------

To A STRANGER
by: Walt Whitman (1819-1892)

PASSING stranger! you do not know how longingly I look upon you,

You must be he I was seeking, or she I was seeking, (it comes to me as of a dream,)
I have somewhere surely lived a life of joy with you,
All is recall'd as we flit by each other, fluid, affectionate, chaste, matured,
You grew up with me, were a boy with me or a girl with me,
I ate with you and slept with you, your body has become not yours only nor left my body mine only,
You give me the pleasure of your eyes, face, flesh, as we pass, you take of my beard, breast, hands, in return,
I am not to speak to you, I am to think of you when I sit alone or wake at night alone,
I am to wait, I do not doubt I am to meet you again,
I am to see to it that I do not lose you.